शादी के बाद भी प्रेमिका को कर रहा था परेशान, परिवार के लोगों ने कर दी हत्या हरपालपुर पुलिस ने 7 दिन में अंधे हत्याकांड का खुलासा कर 4 आरोपी किए गिरफ्तार

हरपालपुर हरपालपुर पुलिस ने रगौली निवासी 18 वर्षीय युवक मोहित राजपूत पुत्र रामसिंह राजपूत के अंधे क़त्ल का खुलासा कर सोमवार को 4 आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है, जबकि एक आरोपी फ़रार हैं। प्रेमिका की शादी के बाद भी मृतक उसका पीछा छोड़ने को तैयार नहीं था। मृतक उसे फ़ोन कर परेशान करता था। अपनी लड़की का प्रेमी से पीछा छुड़ाने के लिए लड़की के परिवार के लोगों ने साजिश रचकर गला घोंट कर युवक की हत्या कर दी थी और लाश को नाले की रेत में  दफन कर दिया था। युवक की लाश सड़ी-गली हालत में 8 अप्रैल को मवैया गांव में बफरा नाले में मिली थी।
हरपालपुर टीआई रामबाबू चौधरी ने बताया कि पुलिस मर्ग कायम कर अंधे हत्याकांड के खुलासे में जुटी थी। छानबीन के दौरान जानकारी लगी कि मोहित राजपूत का मवैया गांव की एक युवती से करीब एक साल से प्रेमप्रसंग चल रहा था। लड़की के साथ मृतक के प्रेम संबंधों की जानकारी लड़की के परिवार के लोगों को लगने पर उन्होंने मोहित राजपूत को कई बार समझाया था। लेकिन प्यार में डूबे युवक को कुछ भी समझ नहीं आया और वह लड़की का पीछा छोड़ने तैयार नहीं था। लड़की के परिवार के लोगों को ये बात नागवार गुजरी। घटना के दो माह पहले लड़की की शादी होने के बाद भी मोहित लड़की को लगातार फ़ोन कर मिलने का दबाव डालता रहता था। इस बात को लेकर लड़की के घरवाले काफी परेशान थे। मृतक 3 अप्रैल को लड़की की ममिया ससुराल में मिलने चला गया। इस बात की जानकारी लड़की के पति को लगने पर उसने लड़की के घरवालों को जानकारी दी। इसी बात को लेकर लड़की के परिवार के लोगों ने 5/6 अप्रैल की दरम्यानी रात लड़की के चाचा मोहन व पिता मुकुंदी अहिरवार ने योजना बना कर लडक़ी के भाई महेश, महेंद्र, गंगा अहिरवार ने मिल कर घटना के दिन मोहित राजपूत को बहला-फुसला कर हरपालपुर स्टेशन से बाइक से मवैया ले जाकर देर शाम बफरा नाला में गला घोंट कर हत्या कर लाश को नाला की रेत में दबाकर फरार हो गये थे। पुलिस आरोपियों की तलाश में लगातार जुटी हुई थी। इस बीच साइबर सेल की मदद से आरोपियो की लोकेशन मिलने पर महेश, महेंद्र, गंगा, मोहन अहिरवार को गिरफ़्तार कर कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपियो ने न केवल हत्या की बात कबूल कर ली बल्कि पूरी कहानी पुलिस को सुना दी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में उपयोग की गई मोटर साइकिल, मोबाईल एवं मृतक का सामान बरामद कर लिया। घटना का एक आरोपी लड़की का पिता मुकुन्दी अहिरवार अभी भी फरार है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है।
पुरस्कृत होगी टीम
अंधेक़त्ल का खुलासा करने वाली टीम में थाना प्रभारी रामबाबू चौधरी, अलीपुरा थाना प्रभारी बलराम राठौर, एसआई भुवनेश शर्मा, एसआई व्हीपी गोटिया, एएसआई करन सिंह यादव, प्रधान आरक्षक शिवपाल सिंह, गिरीश तिवारी, आरक्षक ब्रजपाल सिंह, पहाड़ सिंह, मुकेश अहिरवार, आशीष नायक, हरेन्द्र अहिरवार, बलराम अहिरवर, धर्मेंद्र यादव, महिला आरक्षक रजनी, शिवानी शामिल थीं। पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*