वन भूमि जोत रहे पूर्व डकैत ने किया वनकर्मियों पर हमला हमले में 7 वनकर्मी घायल, 3 गंभीर, उड़नदस्ता वाहन में भी तोड़फोड़

बड़ामलहरा। वन भूमि पर कब्ज़ा कर ट्रैक्टर से जुताई करा रहे पूर्व डकैत रत्तू यादव ने अतिक्रमण हटाने पहुंचे वन अमले पर आज तड़के करीब 3 बजे अपने परिजनों के साथ मिलकर पत्थर, डंडो और कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। हमले में 7 वनकर्मी घायल हो गए, इनमें से 3 की हालत गंभीर होने पर उन्हें जिला अस्पताल रिफर किया गया है। हमलावरों ने वन विभाग के उड़नदस्ता वाहन में भी तोड़फोड़ कर दी।
जानकारी के मुताबिक सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी शिवचरण यादव ने बुधवार रात 2 बजे सूचना दी थी कि वन परिक्षेत्र के कक्ष क्रमांक 35 में स्थित वन भूमि के करीब 3.3 एकड़ रकवा में ट्रैक्टर से जुताई कर खेती की जा रही है। सूचना पर परिक्षेत्र अधिकारी अशोक तिवारी के निर्देशन में उडऩदस्ता तैयार कर वनरक्षक ब्रजराज सिंह, रवि गुप्ता, भागीरथ रैकवार, गोकुल शुक्ला, हफीज बेग, अरुण खरे व रघुवीर सिंह रात करीब पौने 3 बजे अतिक्रमण हटाने के लिए निकल पड़े। अर्जुनकुण्ड स्थित ग्राम मगरा के पास पहुंचते ही आरोपी रत्तू यादव उडऩदस्ता वाहन के आगे लेट गया और उन्हें आगे जाने से रोक लिया। वन अमला और उसके बीच वाद-विवाद शुरू हो गया। मामला बढ़ते ही रत्तू के पुत्र बड़ेभाई, पिंटू और पत्नी मुन्नीबाई यादव डंडो एवं कुल्हाड़ी से लैस होकर मौके पर आ गए और गाली-गलौच करते हुए पत्थर व लाठियां बरसाना शुरु कर दिया। इसी बीच आरोपियों ने कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।
ये हुए घायल-
हमले में वनरक्षक रवि गुप्ता के सिर, ब्रजराज के बांए हांथ व रघुवीर सिंह को गंभीर चोटें आईं। उन्हें तत्काल बड़ामलहरा अस्पताल लाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें गंभीर हालत में जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया। हमले में गोकुल शुक्ला, भागीरथ रैकवार, हफीज बेग और अरुण खरे भी घायल हुए है। गुस्साए आरोपियों ने वन विभाग के उडऩदस्ता वाहन एमपी 02 एव्ही 4816 में भी तोडफ़ोड़ की। रेंजर अशोक तिवारी ने बताया कि हमले की खबर मिलते ही वे सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी सतीश पटैरिया के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा। घटना के बाद वन भूमि में जुताई रोक कर आरोपी ट्रैक्टर लेकर मौके से फरार हो गए। पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 353, 332, 341, 506, 427/34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही वन विभाग ने आरोपियों के खिलाफ वन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया है।
मूरत सिंह की गैंग में रहा है रत्तू यादव
आरोपी रत्तू यादव मूलत: आमखेरा थाना बड़ामलहरा का रहने वाला है। इसकी पृष्ठभूमि आपराधिक रही है। आरोपी दस्यू मूरत सिंह की गैंग में शामिल रहा। इस दौरान उसनें कई वारदातों को अंजाम दिया। इसके कारनामों से पीडि़त आमखेरा के ग्रामीणों ने 1978 में इसका गांव से बहिष्कार कर दिया था। जिससे आरोपी परिवार सहित भागकर मगरा स्थित जंगल में रहने लगा और वन विभाग की भूमि पर अवैध कब्जा कर खेती किसानी कर रहा है।
इनका कहना है-
वन विभाग की रिपोर्ट पर आरोपियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपी रत्तू यादव भी घायल अवस्था में पुलिस थाने आया था। मेडीकल परीक्षण की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
-एसके दुबे, थाना प्रभारी बड़ामलहरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*