रेल्वे क्रॉसिंग गेट पर ट्रेन से टकराई ट्रैक्टर-ट्रॉली बड़ा हादसा टला, गेटमैन को किया तत्काल निलंबित

हरपालपुर। झाँसी-मानिकपुर रेल्वे ट्रैक पर शुक्रवार की दोपहर एक पैसेंजर ट्रेन से ट्रैक्टर-ट्रॉली टकरा जाने से एक बड़ा हादसा टल गया। इस मामले में लापरवाही बरतने पर गेटमैन को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।
जानकारी के मुताबिक आज दोपहर तीन बजे के लगभग सरसेड़-मडोरी रोड़ पर बने रेल्वे क्रॉसिंग पर झाँसी से बाँदा जा रही पैसेंजर ट्रैन से गिट्टी से भरी ट्रैक्टर-ट्राली टकरा गई। गनीमत रही की ट्रेन की रफ़्तार धीमी होने की वज़ह से बड़ा हादसा टल गया। हादसे के बाद करीब एक 30 मिनट तक ट्रेन क्रॉसिंग गेट पर खड़ी रही। रेल्वे ट्रैक साफ होने बाद ट्रेन हरपालपुर स्टेशन की ओर रवाना की गई। हादसे की सूचना पर आरपीएफ एवं रेल पथ निरीक्षक ने मौके पर पहुँच कर हादसे की जांच शुरू कर दी।  ट्रैक्टर की ट्रॉली से ट्रेन का इंजन टकराया हैं साथ ही रेल्वे फाटक के पास लगे लोहे का एंगल क्षतिग्रस्त हो गया हैं।
झाँसी से बांदा जाने वाली पैंसेजर ट्रैन 51807 जो अपने निर्धारिक समय से चल रही थी। मऊरानीपुर स्टेशन से ब्लाक होने पश्चात गेट संख्या 397/सी पर तैनात गेटमेन बद्रीप्रसाद गेट बंद कर रहा था तभी क्रेशर की ओर से गिट्टी भर कर आ रहे ट्रैक्टर ट्राली चालक द्वारा गेट मेन को धमका कर गेट खुलवा लिया। ट्रैक्टर ट्रॉली क्रॉसिंग पार करती तभी झाँसी की ओर से पैसेंजर ट्रेन आ गई । ट्रैन की रफ्तार धीमी करने बाद भी ट्रेन का इंजन ट्राली के पीछे वाले हिस्से से टकरा गया जिससे ट्राली पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई साथ ही ट्रैन के इंजन का अगला हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हो गया । गेट मेन की लापरवाही हजारों यात्रियों की जान भी जा सकती थी।  गनीमत रही पैसेंजर ट्रेन चालक ने ट्रैक पर ट्रैक्टर ट्राली दिखने पर हॉर्न बजाने के साथ ट्रैन की स्पीड को कंट्रोल कर बड़े हादसे को टाल दिया।
इंजन की टक्कर के बाद करीब 30 मिनट तक क्रॉसिंग से गुजर कर पैसेंजर ट्रेन ईदगाह के पास खड़ी रही। इस बीच ट्रैक्टर चालक ट्रॉली छोड़ ट्रैक्टर लेकर भाग गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ट्रैक्टर चालक भी घायल हो गया। हादसे के बाद ट्रैक्टर किस क्रेशर फार्म ये छिपाने के लिये क्षतिग्रस्त ट्राली में लाल पेंट कर भाग गये जिससे पहचान न हो सके।
हादसे की सूचना पर रेल्वे के वरिष्ठ अधिकारी एवं आरपीएफ पुलिस बल मौके पर पहुँच कर हादसे की जांच में जुट गये आरपीएफ ने ट्रॉली को अपने कब्जे में लेकर उसके चालक की तलाश शुरू कर दी है वही रेल्वे पथ निरीक्षक ने प्रथम दृष्टया गेट मेन की लापरवाही मिलने पर उसे तत्काल निलबिंत कर दिया।क्योंकि जिस समय हादसा हुआ उस समय गेट संख्या 397 गेट के दस्तावेजों में गेट बंद बताया गया । क्योंकि गेट 14:53 मिनट पर बंद होना चाहिये था।लेकिन गेट करीब 12 मिनट तक बंद नहीं था जिससे ये हादसा 15:05 पर हो गया। गेट मेन ने जाँच अधिकारियों को बयान में बतलाया कि ट्रैक्टर चालक की धमकी की वजह से गेट खोल दिया था।
इनका कहना है –
हादसे की जांच वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जा रही हैं,गेट मेन को निलबिंत कर दिया गया है उसने बतलाया उसको धमकी देकर गेट खुलवाया गया।
 -सुरेन्द्र सिंह परिहार, स्टेशन प्रबंधक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*