मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना से करोड़ों मजदूरों को मिलेगा लाभ: ललिता यादव राज्यमंत्री ने किया असंगठित मजदूरों को हितलाभ का वितरण

छतरपुर। मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना के तहत असंगठित मजदूरों को हित लाभ के वितरण की योजना का बुधवार की दोपहर प्रदेश की पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण तथा महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने मेला ग्राउण्ड में आयोजित समारोह में शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस योजना से करोड़ों मजदूरों को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐसी योजना बनाई है जो देश में कहीं नहीं बनी। समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हरदा जिले के टिमरनी में आयोजित कार्यक्रम का एलईडी स्क्रीन पर लाइव प्रसारण किया गया।
समारोह को संबोधित करते हुए राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने बताया कि इस योजना के तहत छतरपुर जिले में 5 लाख 25 हजार असंगठित मजदूरों ने रजिस्टे्रशन कराए हैं जबकि पूरे प्रदेश में करीब ढाई करोड़ पंजीयन हुए हैं। जिन्होंने योजना के तहत पंजीयन कराया है आज से उनको हितलाभ वितरण का शुभारंभ किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में करीब एक सैकड़ा हितग्राहियों को एक करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि से लाभान्वित किया गया। उन्होंने बताया कि योजना की खास बात यह है कि इसमें सभी वर्गों को शामिल किया गया है। सामान्य, पिछड़ा, अनुसूचित जाति, जनजाति सभी को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब असंगठित मजदूरों को मात्र 200 रुपए बिजली बिल के देने होंगे। मुख्यमंत्री ने उनके बिजली बिल माफ कर दिए हैं। योजना के तहत महिला को गर्भवती होने पर 5वें से 9वें माह के बीच 4 हजार और प्रसव होने पर 12 हजार रुपए मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने यह योजना इसलिए बनाई क्योंकि गर्भवती होने पर महिलाओं को पर्याप्त खाने को नहीं मिलता था और उन्हें काम भी करना पड़ता था। इतना ही नहीं प्रसव के बाद छोटे बच्चे को लेकर वे काम पर जाती थीं। अब यह राशि मिलने से वे अच्छे से खा-पी सकेंगीं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास रहने को मकान नहीं है उन्हें पट्टे बांटे जा रहे हैं और वर्ष 2022 तक उन्हें मकान बनाने के लिए भी राशि मुहैया कराई जाएगी। राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव ने बताया कि परिवार में किसी के भी बीमार होने पर मुफ्त इलाज होगा। यदि दुर्घटना में अस्थाई रूप से अपंग हो जाएं तो एक लाख रुपए और स्थाई अपंगता पर 2 लाख रुपए की राशि सरकार देगी। इतना ही नहीं सामान्य मृत्यु होने पर 2 लाख और दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर 4 लाख रुपए की राशि पीडि़त परिवार को दी जाएगी। उन्होंने बताया कि योजना के तहत मजदूरों के बच्चे डॉक्टर, इंजीनियर बनना चाहें या प्रशासनिक पदों के लिए कोचिंग करना चाहें, तो इसके लिए भी पूरी रकम सरकार देगी।
ये रहे मौजूद
इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह यादव, जिला पंचायत उपाध्यक्ष अमित पटैरिया, भाजपा महामंत्री जयराम चतुर्वेदी, कलेक्टर रमेश भण्डारी, जिला पंचायत सीईओ हर्ष दीक्षित, एसडीएम रविन्द्र चौकसे, जनपद सीईओ सहित जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी, कर्मचारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों से आए हितग्राही उपस्थित थे।
ये हितग्राही हुए लाभान्वित
समारोह में मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना के तहत आबादी भूमि के भूधारकों को प्रमाण पत्र, मृत्यु हो जाने पर अनुग्रह राशि, अंत्येष्टि सहायता राशि, प्रसूति सहायता राशि, मोट्रेट साईकिल, लेपटॉप, कन्यादान योजना की एफडी, लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण पत्र तथा उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेण्डर और चूल्हों का वितरण कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया।
इस अवसर पर बनगांय के करन पटेल, सुनील नायक, अवधकिशोर राय, लक्ष्मन कुशवाहा, लक्ष्मन पटेल, उत्तम पटेल, ठाकुरदास साहू, हतना के हच्छेलाल यादव, घनश्याम यादव, घासीराम यादव और कालापानी की अरुणा बेवा सुरेश जैन को आबादी भूमि के भूधारक होने का प्रमाण पत्र वितरित किया गया। समारोह में असंगठित श्रमिकों की मृत्यु हो जाने पर उनके उत्तराधिकारियों को अनुग्रह राशि एवं अंत्येष्टि सहायता राशि भी वितरित की गई। इनमें मनसुका रजक निवासी बोंड़ा, नन्नीबाई रजक पिपौराकला, ममता विश्वकर्मा पठापुर, रामबाई कुशवाहा गुरइया और पानकुंवर विश्वकर्मा पहाडग़ांव को अनुग्रह सहायता राशि के रूप में 2-2 लाख रुपए तथा अंत्येष्टि सहायता राशि के रूप में 5-5 हजार रुपए वितरित किए गए। इस दौरान मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के तहत मोहिनी पत्नी पुष्पेन्द्र सिंह देरी, सीमा पत्नी करण अहिरवार रनगुवां, विनीता पत्नी सतीश दुबे मातगुवां, निर्मला पत्नी रमेश प्रजापति सहसनगर और कल्पना पत्नी रवि राजपूत मातगुवां को उनके खाते में राशि ट्रांसफर की गई। इनमें मोहिनी, सीमा, निर्मला को 11 हजार 600, विनीता को 10 हजार 600 तथा कल्पना को 14 हजार 600 की सहायता दी गई। समारोह में मुख्यमंत्री नि:शक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत सामाजिक न्याय विभाग की ओर से जसोदा अहिरवार बम्हौरीखुर्द, नरेन्द्र कुशवाहा पुत्र कटु कुशवाहा हिम्मतपुरा और विशाखा रैकवार पुत्री उमराव रैकवार ढड़ारी को मोट्रेट साईकिल प्रदान की गई। लेपटॉप से संदीप कुसमया पुत्र रामस्वरूप कुसमया निवासी बाजना तथा एक अन्य छात्र को लाभान्वित किया गया। बड़ामलहरा तहसील के घुवारा निवासी महेन्द्र जैन की पुत्री दीपिका जैन को कन्यादान योजना के तहत एफडी प्रदान की गई। समारोह में उज्जवला योजना के तहत माया अनुरागी बंधियन मुहल्ला छतरपुर, बेनीबाई अहिरवार पठापुर, सरोज खटीक खटक्याना मुहल्ला, कमला खटीक, ऊषा खटीक खटक्याना मुहल्ला, जसोदा कुशवाहा पलौठा, खातून बेगम हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, महमूदन खटक्याना, कौशल्या अहिरवार लडय़ाना, पुष्पा अहिरवार पठापुर, भुमानीबाई पटेल पलौठा, चिंजाबाई अहिरवार ढड़ारी, भुमानीबाई रजक छिरावल, कल्लूबाई अहिरवार बूदौर और राधा रजक छिरावल को रसोई गैस सिलेण्डर व चूल्हा प्रदान कर लाभान्वित किया गया। कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत 36 बेटियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। इनमें सौंरा की अंजली पटेल, हर्षिता कुशवाहा, सगुन राजपूत, बनगांय की आकांक्षा पटेल, कांटी की आराध्या राजा, बरकौंहा की सकुन्तला यादव, देविका यादव, बगौता की चांदनी कुशवाहा, दीपमाला, कतरवारा की दामिनी रजक, ठर्री पुरवा की प्रीति बंसल, सिमरिया की नेहा कुशवाहा, बसाटा की राधिका बंसल, मौराहा की तेजकुमारी पटेल, टपरियन की अंशिका यादव, गोपालपुरा की मानसी पटेल, आमखेरा की सौम्या पटेल, अतरार की कौशल्या बसोर, नन्दनी कुशवाहा, बिहारीगंज की अंकिता यादव, खंदेवरा की अंजली कुशवाहा, मलपुरा की रागनी कुशवाहा, उन्नति पांडे, अनन्या पाठक, नदगांय की कल्पना रैकवार, रामपुर की तुलसा कुशवाहा, ईशानगर की दिवांशी साहू, अंजना रैकवार, बिहटा की सृष्टि भदौरिया, बूढ़ापुरवा की मोनिका यादव, परापट्टी की अनन्या चढ़ार, योगिनी चढ़ार, आमखेरा की शिवान्या यादव, अचट्ट की सीमा अहिरवार, सुरक्षना चौरसिया और अराध्या यादव शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*