नाबालिग को सरेआम अगवा कर 4 युवकों ने किया गैंगरेप बिजावर के 4 युवकों पर लगा आरोप, हालत नाजुक

छतरपुर। बिजावर थाने के उदयपुरा गांव से एक नाबालिग को अगवा कर 4 लोगों ने हवस का शिकार बनाया और उसे गंभीर हालत में जंगल में फेक कर भाग गए। नाबालिग को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
बिजावर थाने के ग्राम उदयपुरा की एक 16 साल की लडक़ी को 6 जुलाई की दोपहर कपड़ा सिलाने के लिए घर से निकली थी तभी मोटर साईकिल सवार दो युवकों ने मुंह दबाकर अगवा कर लिया और पास में ही किशुनगढ़ रोड पर पठार तालाब के पास जंगल में ले गए । आरोपियों ने फोन कर 2 अन्य युवकों को वहां बुला लिया और चारों ने नाबालिग को हवस का शिकार बनाया। हालत गंभीर हो जाने पर 2 मोटर साईकिलों पर सवार चारों आरोपी नाबालिग को इलाज के मकसद से गुलगंज में अपनी भाभी के घर ले गए लेकिन वहां फंस जाने के डर से वापस पठार तालाब के पास ले जाकर नाबालिग को फेंक दिया और भाग निकले। मोटर साइकिल से फेंक देने पर नाबालिग के सिर में गंभीर चोट आई जिससे वह बेहोश हो गई। गांव के लोगों ने उसे बेहोशी की हालत में देखकर एक्सीडेंट में घायल मानकर तत्काल डायल 100 को खबर कर दी और परिजनों को भी जानकारी दे दी। डायल 100 की मदद से नाबालिग को 6 जुलाई की शाम ही बिजावर अस्पताल ले जाया गया। बिजावर में उपचार के दौरान जब उसकी हालत नहीं सुधरी तो आज उसे 108 एम्बूलेंस की मदद से जिला अस्पताल छतरपुर रिफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में होश आने पर नाबालिग ने अपने साथ हुई दरिंदगी की दास्तान कह सुनाई। गैंगरेप की जानकारी मिलते ही तत्काल तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उसके बयान कलमबंद किए। नाबालिग का मेडिकल परीक्षण भी कराया गया है। उसके सिर में गहरा घाव है।
आरोपी साथ आया अस्पताल तक
नाबालिग ने तहसीलदार को दिए अपने बयान में बताया कि बिजावर निवासी नवाब खान तथा 3 अन्य युवकों ने उसके साथ दुराचार किया है। आरोपी नवाब खान बिजावर अस्पताल में इलाज के दौरान पूरे समय मौजूद रहा और रिफर होने पर एम्बूलेंस से साथ में जिला अस्पताल भी आया। वह अपने पैसे से दवाएं भी खरीदकर लाया। परिजन उसे अस्पताल का कर्मचारी मान रहे थे। लेकिन नाबालिग को होश आ जाने पर वह गायब हो गया। जिससे परिजनों को संदेह हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*