दो कुल की शान हैं बेटियां…गाना गाकर चर्चा में आई ये महिला पुलिस अफसर

सागर (एमपी)। इन दिनों शहर के कैंट थाने की महिला पीएसआई वीणा विश्वकर्मा का थाने में गीत गाना चर्चा का विषय बना हुआ है। वीणा के मधुर आवाज में महिला सशक्तिकरण पर आधारित गीत सुनते ही बनता है। साल 2017 बैच में पीएसआई बनी वीणा मूलतः…

वीणा छतरपुर के राम टौरिया गांव की रहने वाली है। उन्होंने बताया कि मेरे माता-पिता भी कला जगत से जुड़े हैं। गांव के अतिसामान्य परिवार में पली-बढ़ी वीणा के पिता रामनाथ विश्वकर्मा एक मूर्तिकार के साथ-साथ पेंटर हैं। वही मां संगीत की विधा से जुड़ी हुई हैं।

पुलिसिंग में संगीत का उपयोग करती रहूंगी

वीणा ने कहा, मैं संगीत विशारद हूं, पर जब पुलिसमैन बनी तो यह भी जान गई कि मेरी जवाबदारियां और जॉब प्रोफाइल समाज के बाकी लोगाें से कुछ अलग हो गया है। लेकिन अब मैंने फैसला किया है कि मैं संगीत को अपनी पुलिसिंग में शामिल करूंगी, इसलिए मैंने महिला सशक्तिकरण, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, नशा मुक्तिकरण जैसे विषयों पर गाना शुरू किया है। अच्छी बात ये है कि मुझे साथी स्टाफ द्वारा काफी प्रोत्साहित किया जा रहा है। मैं आगे भी इसी तरह अपने हुनर का उपयोग करते रहना चाहती हूं।

सागर के एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल ने कहा, पुलिस की ड्यूटी में अक्सर तनाव एक समस्या बनकर सामने आता है। ऐसे में पीएसआई वीणा का सकारात्मक संदेश देते गीत उन्हें ही नहीं पूरे महकमे को ऊर्जावान बना सकते हैं। मैं चाहता हूं कि विभाग की अन्य प्रतिभाएं इसी तरह खुद को सामने लाएं। बस, उन्हें अनुशासन का ध्यान रखना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*