तहसील में मंदिर बनाने से रोकने पर हंगामा हिन्दू संगठनों ने हाईवे पर जाम लगाकर की एसडीएम को रिलीव करने की मांग

छतरपुर। नवीन तहसील परिसर में एसडीएम द्वारा मंदिर निर्माण पर रोक लगा देने से आज दोपहर हिन्दू संगठन भड़क गए और एकजुट होकर एसडीएम के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए तहसील के सामने नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया। हालांकि जाम लगने की सूचना लगते ही एडीएम और एएसपी भारी पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे और समझाइश देकर जाम खुलवा दिया गया। इस दौरान हिन्दू संगठनों ने एसडीएम पर धर्म के गलत टिप्पणी करने का विरोध करते हुए मांग रखी कि जब एसडीएम का तबादला हो गया है तो उन्हे रिलीव किया जाए साथ ही नवीन तहसील के हनुमान मंदिर का निर्माण कार्य जारी रखा जाए।
गौरतलब है कि नई तहसील का उद्घाटन होने के बाद तहसील प्रांगण के अंदर दो वर्ष पूर्व कुछ भक्तों एवं तहसील के कर्मचारियों व अधिवक्ताओं द्वारा हनुमानजी की प्रतिमा की स्थापना की गई थी। बारिश और धूप में हनुमानजी की प्रतिमा खुले में न रहे इसके लिए टीनशेड लगाकर उस समय अस्थाई व्यवस्था की गई थी। हनुमानजी की पूजा करने के लिए बाकायदा एक पुजारी भी नियुक्त किया गया और समय-समय पर वहां पर सुंदरकांड और अन्य धार्मिक आयोजन होते रहे।  आज उसी स्थान पर मंदिर बनाने के लिये हिंदू संगठन के लोग पहुंचे तो एसडीएम ने उसे अतिक्रमण मानते हुए मंदिर निर्माण का कार्य रोक दिया। जिस पर हिंदू संगठन आक्रोशित हो गये।

तहसील परिसर में हनुमान मंदिर में छाया के लिए छत डालने के लिए पिलर बनाने गड्ढे खोद दिए गए थे, पिलर का काम कराया जा रहा था, उसी दौरान एसडीएम रविन्द्र चौकसे ने निर्माण को रूकवा दिया साथ ही मौके पर ही टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर किसी को मंदिर की सफाई और निर्माण कराने का शौक है तो पहले जिला अस्पताल जाकर सफाई कर लें और अन्य किसी मंदिर में जाकर दर्शन करें। एसडीएम के इस बयान की जानकारी लगने के बाद हिन्दू संगठन भडक़ गए और सभी ने एकजुट होकर एसडीएम श्री चौकसे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। हिन्दू संगठनों ने तहसील कार्यालय के सामने हाईवे पर एसडीएम के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जाम लगा दिया साथ ही एमडीएम को हटाने की मांग की। जाम लग जाने से हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। जिससे लोगों को काफी परेशान होना पड़ा। सूचना पाकर एडीएम डीके मौर्य और एएसपी जयराज कुबेर तत्काल भारी पुलिसबल लेकर मौके पहुंचे और तत्काल हिन्दू संगठनों को समझाइश देकर जाम को खुलवा दिया। हिन्दू संगठनों ने मंदिर निर्माण स्थल का अवलोकन कर निर्माण जारी रखे जाने की मांग की। साथ ही कहा कि एसडीएम श्री चौकसे का तबादला हो चुका है तो उन्हे जल्द ही रिलीव कर दिया जाए ताकि शहर में धर्ममय वातावरण कायम रहे।
चक्काजाम और विरोध प्रदर्शन के दौरान बजरंग दल, आजाद शक्ति, शिव सेना, मेडीकल संघर्ष समिति, सिघाड़ी नदी जल संरक्षण समिति, परशुराम सेना, लाल कड़क्का सेवा समिति, श्रीराम सेवा समिति, रामलीला समिति, अन्नपूर्णा माता समिति के लोग सहित अन्य हिन्दू संगठन मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*