ट्रेनों में दरोगा बनकर रौब झाड़ता युवक गिरफ्तार हरपालपुर में एक साल से किराए से रह रहा था आरोपी


हरपालपुर। नगर में विगत एक वर्ष से किराये के मकान में रह लोगों को जीआरपी का दरोगा बता कर रौब झाड़ रहा एक युवक जीआरपी के हत्थे चढ़ गया। हरपालपुर थाना पुलिस को भी इस फर्जी दरोगा की कारगुजारियों पर शक नहीं हुआ। वह अकसर थाना आकर पुलिस को जीआरपी में दरोगा होने का परिचय देता था।
नगर के वार्ड 10 कालका विवाह घर के सामने स्थित मकान में पत्नी और दो बच्चों के साथ रहने वाले जीआरपी के इस एसआई पर आसपास के लोगों को कोई शक नहीं हुआ। वह रोजाना वर्दी लगा कर ट्रेन में ड्यूटी के लिये जाता था।
गुरुवार की दोपहर झांसी स्टेशन पर जीआरपी की सजगता से यह फर्जी दरोगा पकड़ लिया गया। आरोपी दीपक अहिरवार ने जीआरपी की वर्दी पहन रखी थी। जीआरपी प्रभारी अजीत कुमार की माने तो कद काठी के आधार पर उन्हें शक हुआ। जिसके आधार पर पूछताछ की गई। पहले तो आरोपी दीपक अहिरवार ने जीआरपी झांसी प्रभारी अजीत कुमार को गुमराह करने की कोशिश की। इस पर अजीत कुमार ने भरोसा नहीं किया और क्रास चैक किया। जिसके बाद दीपक ने स्वीकार कर लिया। दीपक ने बताया कि उसका एक रिश्तेदार जीआरपी में तैनात है। उस रिश्तेदार की वर्दी महज शौक में ही दीपक ने पहन ली। हालांकि जीआरपी पुलिस ने दीपक को हिरासत में लेकर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। दीपक मूलत: बाजना थाने के ग्राम गोपालपुरा निवासी दीना अहिरवार का पुत्र है। वह झांसी-इलाहाबाद रूट पर ट्रेन में यात्रियों और वेंडरों से अवैध वसूली करता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*