घर में पत्नी की हत्या कर कुटने डेम में फेंक आया था पति, भेजा जेल

खजुराहो। होली के वक्त कुटने डेम में मिली बोरे में बंद एक महिला की सड़ी गली लाश की गुत्थी राजनगर थाना प्रभारी केएस परस्ते के नेतृत्व में पुलिस ने सुलझा ली है। राजनगर के ग्राम इमिलिया के कौशिपुरा गांव निवासी मृतका कलावती कुशवाहा का पति पुन्ना कुशवाहा पुत्र मोहन कुशवाहा ही हत्यारा निकला। आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
पुलिस को 22 मार्च को सूचना मिली थी कि कुटने डेम में एक महिला का शव तैर रहा है। थाना प्रभारी श्री परस्ते पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और शव को पानी से निकलवा कर पोस्टमार्टम हेतु भेज कर मर्ग कायम किया और शव के सड़े गले होने तथा पहचान न होने से लावारिस मानकर दफन करवा दिया और प्रकरण की जांच शुरू कर दी। गहन जांच में पुलिस इस प्रकरण की गुत्थी सुलझाने में कामयाब हो गई। पुलिस के मुताबिक 16 मार्च की शाम ग्राम इमिलिया के कौशिपुरा गांव निवासी पुन्ना कुशवाहा का अपनी पत्नी कलावती (35) के साथ किसी बात को लेकर विवाद हो गया। गुस्से में आकर पुन्ना ने पत्नी कलावती पर चूल्हा फूंकने वाले लोहे के पाइप (फुँकनी) से चेहरे और सिर पर कई वार करते हुए चोटें पहुंचाई, जिससे कलावती बेसुध होकर गिर गई। जिसे उसी अवस्था में सोया बताकर पुन्ना ने अपने बच्चों को घर से दूसरे घर भेज दिया और रात में पुन्ना ने देखा तो कलावती मर चुकी थी। पत्नी के शव को प्लास्टिक की बोरी में भरकर आरोपी अपनी मोटर साइकिल से ले जाकर कुटने डेम में फेंक आया और घर वापस आ गया। सुबह जब बच्चों ने मां के बारे में पूंछा तो बता दिया कि कहीं चली गई है। जानकारी के अनुसार कलावती का पुन्ना से कई बार विवाद होता रहता था जिससे नाराज होकर कई बार कलावती अपने मायके सटई थाने के ग्राम पिपरिया चली जाती थी।
कलावती के भाई ने बताया कि इमलिया गांव के लोग जटाशंकर धाम गए थे तभी वहां हमारे गांव पिपरिया के लोग भी मिले। उन्होंने पूछा कि तुम्हारी बहन कितने दिनों से नहीं आई है तो बताया कि मेरी बहन वहीं ससुराल में है। संदेह  होने पर मृतका के भाई ने गांव आकर पता किया तो मालूम चला कि उसकी बहन की हत्या बहनोई ने ही कर दी है। जिससे मृतका के भाई ने थाना राजनगर में आकर जानकारी दी। पुलिस ने फोटो दिखाई तो उसकी शिनाख्त कलावती के रूप में हुई। तब जाकर राजनगर एसडीएम की अनुमति से दफनाई गई लाश को निकलवाकर पहचान कराई तो वह कलावती की ही निकली। चप्पलों से भी उसकी पहचान हो गई। मृतका के भाई ने आरोप लगाया कि जब उसकी बहन गायब थी तब बहनोई ने गुमशुदगी की रिपोर्ट क्यों नहीं की। इसलिए उसी पर हत्या का शक है।
पुलिस ने कलावती के पति पुन्ना को हिरासत में लेकर पूंछतांछ की तो पुन्ना ने हत्या करना कबूल कर लिया। पुलिस ने हत्या करने में प्रयुक्त ओजार को जप्त करते हुए आरोपी पुन्ना पर धारा 302, 201 आईपीसी का मामला पंजीबद्ध करते हुए न्यायालय में पेश कर दिया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*