अवैध खनन कर रेत ला रहा ट्रैक्टर पलटने से 1 मरा, 2 घायल

महाराजपुर। महाराजपुर थाने के अंतर्गत सूडो घाट में रेत का अवैध उत्खनन कर ला रहा एक ट्रैक्टर पलट गया। जिससे एक की मौत हो गई और दो लोग घायल हो गये। दोनों घायलों की हालत गंभीर बनी हुई है। जानकारी के अनुसार प्रशासन की मिलीभगत से सूडो घाट में रेत का अवैध उत्खनन चल रहा है। अवैध उत्खनन कर रहा ट्रैक्टर पलटने से संतोष शिवहरे पुत्र राधेश्याम शिवहरे (32) निवासी ज्यौराहा की मौत हो गई और हरिचरण एवं लालू अनुरागी गंभीर रूप से घायल हो गये, जिन्हें उपचार के लिये अस्पताल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि ज्यौराहा निवासी आत्मदेव पटैरिया द्वारा किराये का ट्रैक्टर लगाकर सूडो घाट पर रेत का अवैध उत्खनन कराया जा रहा था इसी दौरान यह हादसा हो गया। ड्राइवर के पास गाड़ी चलाने का लाईसेंस भी नहीं था। बताया जाता है कि ये लोग मध्यप्रदेश की रेत चोरी करके उत्तरप्रदेश ले जा रहे थे। महाराजपुर पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पद और कद के हिसाब से कमीशन
सत्ता की आड़ और सरकारी तंत्र के संरक्षण में माफिया रेत का अवैध उत्खनन कर महाराजपुर सहित ग्रामीण क्षेत्रो से निकली उर्मिल और कुम्हेड नदी के अस्तित्व को समाप्त कर रहे है, रेत के खेल में पुलिस से लेकर राजस्व अधिकारियो का कमीशन फिक्स है, पद और कद के हिसाब से हर जेब में पैसा पहुँच रहा है। सत्ताधारी दल के नेता खामोश और विपक्षी दल के नेता गहरी नींद के आगोश में है जिससे सूंडा, खिरी, मझगंवा, ढिगपुरा मौजा के मडियन घाट से जेसीबी और ट्रैक्टरों के सहारे रेत निकाली जा रही है। रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर प्रशासन लाचार साबित हो रहा है।
रात के अँधेरे में काला कारोबार
आदतन अपराधी टाइप के दबंग रेत माफियाओं के रेत निकालने का टाइम फिक्स है, शाम 6 से सुबह 6 बजे तक रेत निकालने का खेल चलता है। सूंढा, खिरी, मढियन घाट के अलावा सिंहपुर और डिगोनी घाट पर सैकड़ो ट्रक डम्प रेत पड़ी है, जिसे रात के अँधेरे में बेचने के लिये भेज दिया जाता है।
कमिशनर-कलेक्टर कराएं छापामार कार्यवाही
इन रेत खदानों पर जिले से दल गठित कर कमिश्नर के निर्देशन में कलेक्टर कार्यवाही कराएं तो न केवल डम्प रेत सहित माफिया पकड़े जाएंगे, वरन लोकल सरकारी तंत्र में बैठे बे अफसर बेनकाब होंगे, जिनके संरक्षण में यह खेल चल रहा है। रेत उत्खनन की शिकायत मुख्यमंत्री सहित मुख्य सचिव को भेजी जा रही है,ताकि लोकल सत्ताधारी नेताओ की कार्यप्रणाली की पोल खुल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*