अपने व्यक्तित्व को सरल और सहज बनाएं – न्यायमूर्ति हाईकोर्ट जज राजेन्द्र श्रीवास्तव का अधिवक्ता संघ ने किया सम्मान


छतरपुर। जिला न्यायालय परिसर में अधिवक्ता संघ द्वारा जिला अधिवक्ता कार्यालय में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर के न्यायमूर्ति राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव का स्वागत एवं सम्मान समारोह आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि के रुप में न्यायमूर्ति राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव, प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश जितेंद्र कुमार शर्मा, कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश देव नारायण मिश्र, एडीजे संजय जैन, एडीजे आरके गुप्ता, एडीजे एवम् विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव निगम, एडीजे नागौद दिनेश कुमार शर्मा एवं अधिवक्ता संघ अध्यक्ष राजेंद्र कुमार शर्मा मंचासीन रहे।
एडवोकेट वशिष्ठ नारायण श्रीवास्तव ने बताया कि अधिवक्ताओं ने न्यायमूर्ति श्री श्रीवास्तव एवं नागौद एडीजे दिनेश कुमार शर्मा को शॉल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। न्यायमूर्ति राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि हमें हमेशा अपने व्यक्तित्व को सरल और सहज बनाए रखना चाहिए। उन्होंने न्यायाधीश एवं अधिवक्ताओं से पक्षकारों के साथ नम्रतापूर्वक एवं उनकी समस्याओं को सही ढंग से निपटाने पर जोर दिया। उन्होंने छतरपुर जिला न्यायालय के बेहतर विकास और अच्छे से अच्छी सुविधाओं के लिए हरसंभव प्रयास करने का आश्वासन दिया। मुख्य वक्ता के रूप में विशेष न्यायाधीश जितेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि जिस तरह समुद्र और पहाड़ महान होता है और यह दोनों ही अपना बड़ा व्यक्तित्व रखते हैं, जिस प्रकार समुद्र का पानी एक नन्हा बालक से लेकर बड़ा व्यक्ति भी स्पर्श कर सकता है, उसी तरह श्री श्रीवास्तव के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि श्री श्रीवास्तव हमेशा से सरल और सहज व्यक्तित्व रखते चले आ रहे हैं। उन्होंने कभी भी अपने अधीनस्थ कर्मचारियों, न्यायाधीशों एवं अधिवक्ताओं पर क्रोध नहीं दिखाया और ना ही किसी समस्या का क्रोध से निपटारा किया। बल्कि प्रसन्नतापूर्वक एवं मुस्कुराते हुए समस्याओं का निपटारा किया है। छतरपुर में जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर रहते हुए श्री श्रीवास्तव ने कभी भी किसी को हतोत्साहित नहीं किया न ही किसी को असंतुष्ट किया। छतरपुर के पूर्व सीजेएम और नागौद एडीजे दिनेश कुमार शर्मा की प्रशंसा करते हुए वक्ताओं ने कहा कि उनके द्वारा प्रशासनिक तौर पर भी बहुत अच्छे कार्य किए गए हैं। उन्होंने छतरपुर जिले की ट्रैफिक व्यवस्था एवं विशेषकर जिला न्यायालय परिसर को साफ एवं स्वच्छ गुटखा एवं तंबाकू से मुक्त रखने का बीड़ा उठाया था, उसको वह सफलतापूर्वक निभाते रहे।
कार्यक्रम में एडीजे संजय जैन, एडीजे आरके गुप्ता, कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश देव नारायण मिश्र, विधिक सहायता प्राधिकरण के श्री निगम एवं पूर्व विधायक व वरिष्ठ अधिवक्ता जेपी निगम, शासकीय अधिवक्ता दिनेश कुमार तिवारी, वरिष्ठ अधिवक्ता जयदेव चंसोरिया, सरोज कुशवाहा, एलपी कुशवाहा एवं भास्कर तिवारी ने श्री श्रीवास्तव के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में मुख्य रूप से एडीजे नौरीन निगम, न्यायाधीश पवन कुमार शंखवार, न्यायाधीश प्रीति मिश्र एवं अधिवक्ता संघ के सहसचिव अभिलाष पटेरिया, एजीपी ऋषि बिलथरे, एजीपी विनोद दीक्षित, वरिष्ठ अधिवक्ता सतीश सिन्हा, वरिष्ठ अधिवक्ता सतीश सिन्हा, विनोद पांडे, निर्भय सिंह बुंदेला, संतराम पांचाल, अधिवक्ता परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष रमेश कुमार पटेल, आरके गुप्ता, आसाराम त्रिपाठी, पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र मिश्रा, लखन राजपूत, जेपी बसेड़ीया, सहित सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता मौजूद थे। अनिल द्वेदी ने आभार प्रकट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*